Saturday, May 28, 2016

बडे शहरों में अक्सर ख्वाब छोटे टूट जाते हैं
बडे ख्वाबों की खातिर शहर छोटे छूट जाते हैं
-दुष्यंत (Dush Yant)

No comments:

Post a Comment