Friday, July 8, 2016

जाता क्या है

तू क्या है ये तुझको पता है
क्या है गर दुनिया ही ख़फ़ा है

मारे दुनिया तू ना मरेगा
गर तुझको अब भी जीना है

सोच रहा है दुनिया की तू
अच्छा इसने किसको कहा है

क्या खोया है सोचूं क्यूं मैं
जो रह जाए वो अच्छा है

प्यार किया था प्यार किये जा
सोच नहीं के मिलता क्या है

मिलते हैं दुनिया में कितने
तेरे जैसा कौन हुआ है

सब ख़ुश हैं तो ख़ुश हो 'रोहित'
ऐसा कर के जाता क्या है

-रोहित जैन

https://rohitler.wordpress.com/

No comments:

Post a Comment